Waters of Life

Biblical Studies in Multiple Languages

Search in "Hindi":
Home -- Hindi -- Tracts -- Tract 10 (Do not be afraid, for I have redeemed you, I have called you by name; you are Mine!)
This page in: -- Armenian? -- Burmese -- Chinese -- Dagbani? -- English -- German -- Hausa -- Hebrew -- HINDI -- Igbo -- Indonesian -- Japanese -- Korean? -- Nepali? -- Peul? -- Somali -- Telugu -- Thai? -- Turkish? -- Twi? -- Uzbek -- Yoruba

Previous Tract -- Next Tract

पत्रक - वितरण के लिये लघु बायबलसंबंधी सन्देश

पत्रक 10 -- भयभीत मत हो! मैंने तुझे बचा लिया है| मैंने तुझे नाम दिया है| तू मेरा है| (यशायाह 43:1)


प्रत्येक व्यक्ति अपने ऊपर आनेवाली समस्याओं और खतरों से डरता है| प्रत्येक एक को धक्का लगता है जब उसके निकट कोई अपघात होता है| वह अपने हृदय में हलचल अनुभव करता है जब वह अपने आसपास खूनी युद्धों और खतरनाक महामारियों के बारे में सुनता है| कुछ लोग दबाब के तले भय का पुलिंदा होते है घबराए हुए विनष्ट हुए लोगों के समान जीते है| परन्तु परमेश्वर तुम्हे डरने की अनुमति नहीं देते क्योंकि वे जीवित हैं, और वे हर एक उस शक्ति से जो तुम पर आक्रमण कर सकती है, की अपेक्षा अधिक शक्ति शाली हैं| वह तुम्हारी प्रत्येक यंत्रणा से अधिक बुद्धिमान है| इसलिए, वह जो तुमसे कहते हैं उसे सुनो|


डरो नहीं!

परमेश्वर तुम्हे अस्वच्छ आत्माओं और जिनो से डरने की अनुमति नहीं देते| वह तुम्हे दुष्टों से छुड़ाना चाहते हैं| बच्चों के कपड़ों पर नीले मोती डालना, अपने घर के दरवाजे पर एक घोड़े का जूता लटकाना और लकड़ी को खटखटाना छोड़ दो| इन कार्यों को करनेवाला प्रत्येक व्यक्ति इस के द्वारा इस बात को स्वीकार करता है कि इन रीति रिवाजो के पीछे जो आत्मा है वह स्वयं परमेश्वर से अधिक शक्तिशाली है| परमेश्वर सर्वशक्ति मान है, तुम्हारी सुरक्षा करने के लिए तैयार और योग्य है क्योंकि वह सभी आत्माओं से अधिक बलवान है|

परमेश्वर तुमसे प्रेम करते है और तुम्हे भविष्य के भय से मुक्त करेंगे| युद्धों, नाभिकीय विस्फोट के मलबे और इस जगत में बढते हुए प्रदूषण से मत डरो| यह भविष्य में दिखाई देगा कि मनुष्यों की कोई भी गतिविधियां इस जगत को बचा नहीं सकती| हमारे पास परमेश्वर के अलावा और कोई समाधान नहीं है| सभी मन बहलावों से वह अधिक महान हैं| पूरी तरह से उनपर विश्वास करो|

तुम्हारे सृष्टिकर्ता चाहते है कि तुम परीक्षाओं, बेरोजगारी, भूख और दबावों में भय पर विजयी रहो| वह तुम्हारी सहायता करने के लिए, और अपने आप को तुमसे बांधने के लिए तैयार हैं| इसलिए अपने व्यवसाय में परिश्रमी और अपने प्रतिदिन के कार्यों में विश्वसनीय बने रहो, तब तुम देखोगे कि परमेश्वर तुम्हे भरपूरी से आशीष देंगे| उनकी ओर देखो, और तुम्हे खतरों के बीच में सुख और मार्गदर्शन प्राप्त होगा|

सर्वशक्तिमान तुम्हे तुम्हारे शत्रुओं से, उनकी घृणा से, तुम्हारी दुकान या देश से तुम्हे निकाले जानेसे, और चोरों की चालाकी से तुम्हारी सुरक्षा करेंगे| वह तुम्हारी सुरक्षा करेंगे यदि तुम उनकी ओर मुड जाओ और उनमे ही बने रहो| यहाँ तक कि यदि आवश्यकता और निराशा तुम्हे बहा कर लेजा पाये, परमेश्वर तुम्हारी शक्ति और आशा होंगे| इसलिए उनसे अलग मत होओ; वह तुम्हे अपने नाम में बनाये रखेंगे|

अनंत परमेश्वर तुम्हे मृत्यु से डरने, कब्र के दण्ड से कांपने, और नर्क की आग से सिहर उठने के लिए मना करते हैं| वह इतने बलवान है, और तुम्हे बचाना एवं सुरक्षित करना चाहते हैं| प्रभु मर नहीं गये थे जैसा कि कुछ उपहास करने वालो ने कहा, परंतु वह तों जीवन का झरना है| उनके निकट आओ और उनके साथ रहो, तब जीवन और मृत्यु के बीच में शांति का अनुभव कर पाओगे|

परमेश्वर निष्पक्ष हैं, उसी के साथ तुम्हे तुम्हारे सभी अपराधों से न्यायोचित ठहराने वाले हैं| केवल वही तुम्हे तुम्हारे बुरे कार्यों से छुडा सकते हैं| वह तुम्हे न्याय के दिन उनके क्रोध द्वारा तुम्हारा विनाश करना नहीं चाहते हैं| ऐसा मत सोचो कि तुम तुम्हारे अच्छे कार्यों द्वारा अपने आपको बचा सकोगे| परमेश्वर स्वयं तुमसे प्रेम करते है और तुम्हारे लिए अनंत सफलता के द्वार को खोलते हैं|

एक मात्र परमेश्वर जो अनंत प्रेम से भरपूर हैं, स्वयं तुमसे तुम्हारी सुरक्षा करने के लिए, तुम्हारे अस्वच्छ हृदय से तुम्हे बचाने के लिए, और तुम्हारे गर्व के ऊपर तुम्हे विजय दिलाने के लिए तैयार हैं| वह तुम्हे तुम्हारे प्रलोभनों में शक्ति देंगे, और उन सफ़ेद झुठो से जो तुम्हारी जीभ पर शीघ्रता से फिसल जाते है, विजय दिलाएंगे| इसलिए पवित्र आत्मा के लिए अपने हृदय को खोलो, तुम्हारा उद्धार करने के लिए क्योंकि वह पवित्र हैं|

प्रभु तुमको प्रोत्साहित करते हैं कि जीवन की सभी परिस्थितियों में शांतिपूर्वक रहो| उन्होंने बाइबल में 365 बार उनका आदेश “डरो मत” स्पष्ट रूप से प्रकट किया था| यह व्यक्तिगत, परिवारों और सभी लोगों, पुरुष और महिलाओं पर लागू होता है| परमेश्वर के इस नियम का तुम वर्ष के प्रत्येक दिन अभ्यास कर सकते हो, जिससे भय तुम पर नियंत्रण नहीं कर पायेगा, बल्कि परमेश्वर की शक्ति के द्वारा तुम उस पर विजय पाओगे| अपने जीवन, अपनी योजनाओं और अपने भविष्य का चालन चक्का मसीह को दे दो तों वह किसी भी सांसारिक पिता की अपेक्षा तुम्हारा अधिक ध्यान रखेगे, और वह तुम्हारी सुरक्षा करेंगे और बहुतायत से आशीष देंगे|

जैसे हि तुम अपने भयभीत हृदय को उन के सामने खोलते हो, तुम प्रकाश एवं शक्ति प्राप्त करते हो ताकि तुम उन पर विश्वास करो उनसे प्रेम करो और भविष्य के लिए आशा प्राप्त करो| तब भय के कारणों का, जो ढेर तुम्हारे सामने है, तुम्हारे ऊपर कोई वश नहीं होगा| परमेश्वर तुम्हारे सामने वह रहस्य भी प्रकट करते हैं कि वे तुम्हे क्यों सभी खतरों और भय से मुक्त रखना चाहते हैं वे तुमसे कहते है:


मै तुम्हे मुक्त कर चुका हूँ|

याकूब के बच्चे मिस्र में अपमानित दास थे, और फ़िरौन उनका शोषण करता था| यद्यपि उन्होंने परमेश्वर और उनके पितासमान व्यवहार पर विश्वास किया था| इसलिए उन्होंने उनसे कहा था कि प्रत्येक परिवार एक पवित्र मेमने का वध करे, और यह कि परिवार का प्रत्येक सदस्य, बहते हुए लहू की सुरक्षा में रहे, तों सर्वशक्तिमान का क्रोध उनके उन पर से निकल जाये| यदि उन्होंने ऐसा नहीं किया होगा, परमेश्वर ने उनके अपराधों के लिए उनका विनाश किया होगा| याकूब के बच्चों ने परमेश्वर के आदेश पर का पालन किया था और उनके बुलावे पर विश्वास किया था| इसलिए उन्होंने उनको उनकी दासता से परमेश्वर के फसह मेमने के खून द्वारा मुक्त किया और स्वतंत्रता एवं छुटकारे की ओर उनका मार्गदर्शन किया था|

इब्राहीम ने भी छुटकारे के रहस्य का अनुभव किया था, जब उन्होंने अपने इकलौते कानुनी पुत्र को परमेश्वर की महिमा करने के लिए, एक दान के समान जलाकर बलिदान करने का प्रयास किया था| परंतु परमेश्वर ने उसे एक मनुष्य को बलिदान के रूप में मार डालने से रोक दिया था और उसे अपने पुत्र को मारने से सख्ती से मना किया था (सूरा अल –सफ्फत 37:107)| इस प्रकार से पवित्र परमेश्वर ने, अपने अनुग्रह में, इब्राहीम की सभी संतानों को महान त्याग से हमेशा के लिए छुडाया था|

आज परमेश्वर का वादा “मै तुमको छुडा चूका हूँ” तुम तक पहुँच रहा है| यह वादा भूतकाल में लिखा गया हैं, क्योंकि तुम्हारे लिये यह कार्य पहले ही पूरा किया जा चुका है| यह कहता है कि तुम्हारा उद्धार पूरा हो चुका है और वापस करने की आवश्यकता नहीं है| जीवित परमेश्वर अपने समाप्त किये गये उद्धार को तुममे परिपालन करना चाहते हैं, ताकि तुम इस या अगले संसार में डरो नहीं, और इसलिए तुम यह नहीं कहोगे “शायद” वह मेरा उद्धार करेंगे| सर्वशक्तिमान ईश्वर तुम्हे न्याय के दिन, शैतान के छल, और तुममे अपराध की शक्ति से तुम्हे छुडा चुके हैं| तुम्हे इस बात का ज्ञान होना चाहिए कि तुम्हारा छुटकारा क़ानूनी रूप से संपादित हो चुका है| यह तुम्हारे हाथ में नहीं है कि स्वयं को उपवासों, प्रार्थनाओं धार्मिक यात्राओं या परमेश्वर के लिए लडाई द्वारा बचा लो| परमेश्वर ने एक महान उद्धार तुम्हारे लिए पूरा किया है, और तुम्हारे क़ानूनी अधिकार के रूप में तुम्हारी मुक्ति तुम्हे प्रदान की है, जिसके वारे कोई प्रश्न नहीं पूछा जायेगा| वह तुम्हे अपना अनुग्रह मुफ्त देते है| इसलिए डरो मत, परंतु तुम्हारे विशेषाधिकार को स्वीकार करो, अपने उद्धार में विश्वास करो, और अपने प्रभु के वचन पर विश्वास रखो| यदि तुम तुम्हारे उद्धार में विश्वास करते हो, इसका संपादन तुममे तुम्हारे विश्वास के अनुसार होगा|

इस बात से तुम अचंभित हो सकते हो कि समझौते के परमेश्वर ने “मै पहले ही तुम्हारा उद्धार कर चुका हूँ” यह वादा विशेष रूप से उन हठी लोगों से जो बेबीलोन से दूर ले जा चुके थे| परमेश्वर ने उनके अविश्वास और विरोध के कारण उन्हें दूर ले जाने की अनुमति दी थी| उन्हें अपने घर और देश छोडना पड़ा था और उनको मंदिर से 800 किलो मीटर दूर रेगिस्तान में फेंक दिया गया था| वे बीमार, भयभीत और असहाय बन गये थे, और उनमे से कुछ लोगों ने अपने अपराधों का स्मरण किया था| उनके पास ना हथियार थे और ना ही धन था| उनके पास सिवाय उनके जीवन और उनके प्रभु के और कुछ नहीं था| इस भयानक परिस्थिति में सर्वशक्तिमान ने उन्हें आश्वासित किया था “मुझमे विश्वास रखो, भयभीत ना हो क्योंकि मैं तुम्हे मुक्त करा चुका हूँ, मैं तुम्हे तुम्हारे नाम से पुकारता हूँ और मैं उन सभी शक्तियों से जो तुम्हे दास बनाती है बलवान हूँ|”

तुम्हारी जो भी परस्थिति हो, विश्वास रखो कि दयावान ईश्वर तुम्हे तुम्हारे डर से, तुम्हारी घोर निराशा से, और मृत्यु के डंक से तुम्हे मुक्त करना चाहते हैं| वह तुम्हे मसीह की प्रतिस्थानिक मृत्यु द्वारा नैतिक और हमेशा के लिए मुक्त कर चुके हैं| मरियम के पुत्र परमेश्वर के मेमने थे और तुम्हारे स्थानपन्न जिन्होंने तुम्हारे अपराधों के लिए सूली के दण्ड को सहन किया था| इसलिए तुम्हारे सृष्टिकर्ता तुम्हारे दयावान न्यायाधीश नहीं होंगे, परंतु केवल वही एक है जो तुम्हे न्यायोचित करते हैं और तुम्हे तुम्हारे आध्यत्मिक पिता के समान क्षमा करते हैं प्रत्येक दिन तुम्हारी सहायता करने के लिए तैयार हैं|


मैंने तुम्हे नाम लेकर पुकारा है

यह मत भूलो कि प्रेम के परमेश्वर ने तुम्हे वास्तव में मुक्त किया था| क्या तुमने इस चमत्कार का अनुभव किया है या नहीं? दयावान परमेश्वर ने तुम्हारे लिए अपराधों से, मृत्यु और शैतान के प्रलोभनों से दूर, एक स्वतंत्रता का घेरा तैयार किया था| और परमेश्वर ने तुम्हारे लिए इससे भी अधिक किया है| वह तुम्हे व्यक्तिगत रूप से बुलाते हैं| वह तुम्हे एक भयानक न्यायाधीश के रूप में नहीं पुकारते है| नाहीं, वह तुम्हारी ओर करुणापुर्वक घूमते है, क्योंकि उनका क्रोध तुम पर से गुजर चुका है, यदि तुम परमेश्वर के मेमने के लहू की सुरक्षा पर विश्वास करते हो तों| परमेश्वर तुम्हारा नाम जानते हैं| वह जानते है कि तुम कौन हो जितना तुम अपने आप को जानते हो उससे कही अधिक बेहतर वह तुम्हे जानते हैं| वह तुम्हारे सभी रहस्य जानते है, उनके सामने सारा रहस्य उजागर हैं| इन सबके बदले में वह तुम्हे प्रेम करते है जैसे तुम अपने आप से करते हो|

कितनी विस्मयजनक कहानी है! विशाल परमेश्वर तुम्हे बुलाते हैं, छोटे से इन्सान को, तुम्हारा नाम लेकर बुलाते हैं| तुम उनके लिए महत्वपूर्ण हो| वह तुम्हे जानते हैं और तुम्हारी देखभाल करते हैं| वह तुम्हे अपने उपहार प्रदान करना चाहते हैं और तुम्हे तुम्हारी भीतरी जंजीरों के बंधनों से स्वतंत्र करना चाहते हैं| जब कभी भी एक माँ या पिता अपने बच्चे को जो बाहर खेल रहा हो, को नाम लेकर पुकारते हैं, यह बच्चा उस पुकार को सुनकर समझ जाता है कि वह अकेला ही बाहर रह गया है और यह भी कि उसे उत्तर देना चाहिए या एक समस्या खड़ी हो जायेगी| इसलिए सचेत रहो और जानो कि तुम्हारे सृष्टिकर्ता तुम्हे पुकारते है और तुम्हारे उद्धारकर्ता तुमको संबोधित करते है और तुम्हारे सुख देने वाले तुम्हे व्यक्तिगत रूप से खींच कर ले जाते हैं| जैसे ही वह तुम्हे संबोधित करते है वह तुम्हे अपने स्तर तक उठा लेते हैं क्योंकि वे तुमसे बात करते हैं और उनके वचन तुम्हे जीवंत बनाते हैं| कभी मत भूलना कि परमेश्वर तुम्हे पुकारते है| उनकी पुकार को भूलो मत क्योंकि इस पुकार में वह तुम्हे अपनी दया और उनका अनुग्रह प्रदान करते हैं|

जब मसीह पृथ्वी पर हमारे बीच रहे थे, वे अपने मित्र लाजर, जो उनके वहाँ पहुँचने के तीन दिन पहले मर चुके थे, की कब्र पर गये थे| यीशु ने अपने आसपास के लोगों से कब्र पर से पत्थर हटाने के लिए कहा परंतु वे लोग ऐसा करना नहीं चाहते थे क्योंकि लाजर तीन दिन पहले मर चुके थे और उनके शरीर से दुर्गन्ध आ रही थी| यीशु ने आग्रह किया, और जब पत्थर हटाया गया, उन्होंने ऊँची आवाज़ में पुकारा था, “लाजर, आगे आओ|” तब मलमल के कपडे में बंधा हुआ शरीर बाहर आया| यीशु मसीह की आवाज़ मृतको को उठाकर खड़ा कर सकती है (यूहन्ना 11:34-44; सूरा अल-‘इमरान 3:49) मरियम के पुत्र की वाणी अपने आप में पूरी सत्ता और शक्ति रखती है|

मसीह आज परमेश्वर के साथ रहते है, और वह उनको जो उनकी आवाज़ सुनने की इच्छा रखते है, को बुलाते हैं| वह आज तुम्हे तुम्हारे नाम से बुलाते हैं| अपने गर्व को छोड़ दो और वह तुम्हे तुम्हारे अपराधों से मुक्त करके, जीवित कर देंगे, और तुम अपने रक्षक की शरण में रहोगे| हिचकिचाओ मत परंतु अपने परमेश्वर को उत्तर दो और अपने बुलावे के लिए उनको धन्यवाद दो|

हो सकता है कि तुम मसीह के आने से पहले कलीसिया के लिए यूनानी शब्द “एक्लेसिया” के एक विशेश अर्थ को जानते हो| इसका अर्थ था कि प्रत्येक कस्बा अपने आप के लिए स्वयं जिम्मेदार है, और वहाँ के रहवासी, एकत्रित हुए जिम्मेदार व्यक्तियों द्वारा निर्णय लेते थे| इन जिम्मेदार व्यक्तियों को युद्ध या शांति, करो और कानून और सभी कुछ जिसका सबंध कसबे में जीवन से होता था, के बारे में निर्णय लेने के लिए बुलाया जाता था| कसबे के इन जिम्मेदार व्यक्तियों की सभा का नाम एक्लेसिया थ, जिसका अर्थ है बुलाए गये व्यक्ति| एक्लेसिया या बुलाए गये व्यक्ति अपने स्वयं के कसबे या शहर की जिम्मेदारी भी साथ ही अपने हाथ ले लेते थे| यीशु और उनके उपदेशकों ने कलीसिया के रहस्य को स्पष्ट करने के लिए इस अभिव्यक्ति का उपयोंग किया था, और उसे एक्लेसिया कहा गया था| इसका अर्थ है कि प्रत्येक कलीसिया के प्रत्येक आध्यात्मिक सदस्य को परमेश्वर उसका नाम लेकर बुलाते है| वह उन्हें बुरे विचारों एवं अपराधों को छोड़ने और परमेश्वर की आत्मा द्वारा मृत्यु और शैतान पर विजय प्राप्त करने के लिए, एवं इस जगत के प्रलोभनों से मुक्त होने के लिए बुलाते है और जो न्यायोचित हैं उन सभी के साथ, समुदाय के अन्य व्यक्तियों की जिम्मेदारी, अपनी प्रार्थनाओं, दानों एवं सेवकाई द्वारा उठा लेने के लिए बुलाते हैं|

अपने आपको परखो! क्या तुम उन बुलाए गये लोगों में से हो जो दूसरों के लिए जिम्मेदारी उठाते है? या तुम अब तक अपराध और प्रलोभन द्वारा पराजित हो? जान लो मसीह तुम्हे तुम्हारा नाम लेकर उनकी सेवा करने के लिए पुकारते हैं| उनको तुम्हारा क्या उत्तर है?


तुम मेरे हो

पवित्र परमेश्वर तुम्हे अपने बेजोड शब्दों के साथ आश्वस्त करते है, “तुम मेरे हो|” मैंने ना केवल तुम्हारी रचना की है परंतु मैने तुम्हे तुम्हारे विरोधी विचारों और आचरण से छुडाया भी है, और तुम्हे स्वच्छ किया है, तुम्हे पवित्र किया है और तुम्हे मेरे विश्चास करने वाले के रूप में स्वीकार किया है|” यह उद्धार तुम तक इसलिए नहीं पहुंचेगा कि तुम अन्य लोगों से उत्तम हो परन्तु क्योंकि तुमने उस उद्धार, जो परमेश्वर ने तुम्हारे लिए पूरा किया है, को स्वीकार किया था, तुम तक पहुंचेगा|

परमेश्वर तुम्हे स्पष्ट करते हैं, “तुम मेरी बहुमूल्य संपत्ति हो| तुम अब और अधिक तुम्हारे नहीं, परंतु तुम मेरे हो| मै हमेशा तुम्हारा परमेश्वर हूँ| तुम मेरी आँखों में अनुपम, बहुत ऊंचे मूल्य के साथ हो| मै तुम्हारा ध्यान रखूँगा, मै तुम्हे कभी अकेला नहीं छोडूंगा; मै तुम्हारे निकट हूँ| तुम मेरे परिवार और मेरे स्वर्गीय वंश के हो| तुम मेरे प्रेम में सुरक्षित हो| मै तुम्हारी साक्षी हूँ| मै तुम्हारी जिम्मेदारी लेता हूँ, और कभी भी मै तुम्हारा नाम नहीं भूलूँगा| मेरे हाथ से कोई भी तुम्हे छीन नहीं सकता है| तुम भुलाये गये नहीं हो जो कुछ भी तुम अपने जीवन और मृत्यु तक बने हो मै हमेशा तुम्हारे साथ हूँ, यहाँ तक कि इस युग के अंत तक भी मै तुम्हारे साथ हूँ| मै तुम्हे पुकारता हूँ क्योंकि तुम मेरे लिए आनंद बन गये हो|”

एक जवान आदमी था जो कड़ी मेहनत करता था और एक एक पाई बचाता था| आखिर वह एक गाडी लेने के योग्य हो गया| अब वह घूमने लगा, वह पहाड़ों तक और फिर वहाँ से नीचे गाडी चलाने लगा| उसे कोई समस्या नही थी| वह अपनी कार को धोता था, उसकी देखभाल करता था| रात के समय वह कार को सुरक्षित रखता था कि चोर उसे देख नही पाये| उसका हृदय और विचार पूरी तरह से अपनी इस नई संपति के आसपास रहते थे| इसलिए यदि एक साधारण आदमी अपनी खरीदी हुई संपति के प्रति उत्तेजित हो सकता है, उससे कहीं अधिक जीवित प्रभु प्रत्येक उस विश्वासी की जो उनकी पुकार को सुनता है, की सुरक्षा और प्रेम करते होंगे|

प्रत्येक व्यक्ति जो अपने हृदय में परमेश्वर की आवाज़ को सुनता है और अपने हृदय को मसीह के प्रेम के प्रति खोलता है और उनकी आत्मा से शक्ति प्राप्त करता है एक नई रचना बन जायेगा| परमेश्वर की आत्मा विश्वासी में निवास करेगी और मसीह उसे पूरी तरह से कृतज्ञतापूर्वक जीवन जीने के लिए उसका मार्गदर्शन करेंगे, और इन खतरों एवं आवश्यकताओं से भरे इस जगत के बीच में उसके अंदर शांति और समरसता स्थापित करेंगे| परमेश्वर का जीवन, मुक्त किये गये, बुलाए गये प्रत्येक के जीवनों में बहता और कार्य करता है| क्या तुमने अपने आप को परमेश्वर को एक आध्यत्मिक संतान के समान सौंप दिया है? या तुम अब तक अपने सृष्टिकर्ता और उद्धारकर्ता से बहुत दूर घूम रहे हो और उनको तुमने अधिक, बहुत अधिक दूर छोड़ दिया है?


क्या तुम अपने उद्धार को समझ पाये थे?

यदि तुम अपने परमेश्वर के प्रेम और उनके पूर्ण किये गये उद्धार के बारे में और अधिक जानना चाहते हो तों तुम्हारे आग्रह पर हम तुम्हे बिना मूल्य के मददगार साहित्य भेजने को तैयार हैं जिससे तुम्हारा विश्वास बढ़ने में तुम्हे मार्गदर्शन मिलेगा|


सच में परमेशर ने सभी लोगों के उद्धार की तैयारी की है|

परमेश्वर ने अपने प्रेम को प्रत्येक के लिए, चाहे वे अच्छे है या बुरे इस बात से संबध ना रखते हुए प्रस्तुत किया था| वह उनको अपना उद्धार मुफ्त में पूरी तरह से देने को तैयार हैं| परंतु यह बहुत खेदजनक बात है कि उनमे से अधिकांश अपने सौभाग्य को नहीं जान पाते और भय एवं घोर दुख में चले जाते हैं| यदि तुम अपने मित्रों और सगे संबंधियों को मदद करना चाहते हो, ताकि वे भी अपने लिए पूर्णत उद्धार को प्राप्त कर सके तुम्हारे आग्रह पर हम इस पर्चे की प्रतियाँ एक सीमित संख्या में भेजने को तैयार है| अपने प्रभु की सेवा करो क्योंकि उन्होंने तुम्हारी, जितना तुम्हे मालूम भी नहीं है, सेवा की है|

WATERS OF LIFE
P.O. BOX 60 05 13
70305 STUTTGART,
GERMANY

Internet: www.waters-of-life.net
Internet: www.waters-of-life.org
e-mail: info@waters-of-life.net

www.Waters-of-Life.net

Page last modified on March 05, 2015, at 12:21 PM | powered by PmWiki (pmwiki-2.2.109)